Mahasamund - अवैध गांजे की परिवहन करने वाले लोगो को पकड़ने में महासमुन्‍द पुलिस को सफलता मिली

महासमुंद एवं उड़िसा से लगे हुये राष्ट्रीय राज्यमार्ग 53 में उड़िसा से अवैध गांजे की परिवहन की सूचना पुलिस अधीक्षक श्रीमती नेहा चम्पावत को मिल रही थी। उक्त सूचना पर कार्य करने के लिए क्राईम ब्रांच की टीम को निर्देशित किया गया था। क्राईम ब्रांच की टीम उड़िसा और महासमुंद जिला प्रवेश के पास अपने मुखबीर लगाकर अवैध गांजा परिवहन करने वाले लोगो को पकड़ने का लगातार प्रयास कर रही थी कि क्राईम ब्रांच की टीम को सूचना मिली कि एक उत्तर प्रदेश रजिस्ट्रेशन नम्बर की कार में अवैध रूप से उड़िसा से गांजा लाया जा रहा है जो बहुत ही तेज गति से महासमुंद शहर की ओर बढ़ रही है। क्राईम ब्रांच की टीम ने खल्लारी नाका के पास नाकेबंदी लगाकर उक्त वाहन को रोकने का प्रयास किया परन्तु वाहन चालक बहुत ही तेज गति से वाहन चलाकर आगे बढ़ने लगा। क्राईम ब्रांच की टीम मोटर सायकल से उक्त वाहन का पीछा करने लगी अपने पीछे पुलिस को आते देख उक्त वाहन कोसरंगी मार्ग से मुड़ कर खट्टी जाने वाले मार्ग की ओर तेज गति से बढ़ने लगती है। क्राईम ब्रांच की टीम जो उक्त वाहन का पीछा कर रही थी। उक्त कच्चे मार्ग पर वाहन को रोककर वाहन में बैठे विवेक कुमार पिता भगवती प्रसाद चैधरी उम्र 20 वर्ष सा. लगला नेचमा थाना एगलास जिला अलीगढ़ (उ0प्र0), मदन मोहन पिता कुंवरजी लाल शर्मा उम्र 21 वर्ष सा. लगला नेचमा थाना एगलास जिला अलीगढ़ (उ0प्र0), राजकुमार पिता कालीचरण जाटव उम्र 25 वर्ष सा. लगला नेचमा थाना एगलास जिला अलीगढ़ (उ0प्र0) को नीचे उतार कर वाहन की तलाशी ली गई। वाहन से मदाक पदार्थ का द्रुगंध आ रही थी। वाहन का पीछा का डिग्गी खोलकर देखा तो उसमें गांजा भरा हुआ था, जो अलग-अलग पैंकेट में बंधा हुआ करीबन 30 किलो कीमती डेढ़ लाख रूपये एवं 01 मारूती स्वीफट कार क्रमांक यूपी 81बीडी/8681 कीमती तीन लाख कुल 4.50 लाख जप्त की गई। आरोपियों ने पूछताछ पर बताया कि वह उड़िसा से गांजा को उत्तर प्रदेश खपाने हेतु ले जा रहे थे। आरोपियों द्वारा प्रकार गांजा के और खेप झारखण्ड ले जा चुका है। इनकी गिरफ्तारी से अंतर्राज्यीय गिरोह पर्दाफास हुआ है।

District: 
Mahasamund
Post Image: