नेशनल हाईवे पर चक्का जाम करने वालों के विरूद्ध की गई कार्यवाही, नेशनल हाईवे पर चक्का जाम करने पर बक्षा नही जायेगा।

नेशनल हाईवे पर चक्का जाम करने वालों के विरूद्ध की गई कार्यवाही
ऽ नेशनल हाईवे पर चक्का जाम करने पर बक्षा नही जायेगा। 
आये दिन देखने में आ रहा है कि आम जन अपनी समस्याओं के निराकरण हेतु प्रषासन पर दबाव बनाने हेतु नेषनल हाईवे पर चक्का जाम कर रहे है, जिससे यातायात अवरूद्ध होने से पूरे बस्तर संभाग का जन जीवन अस्त व्यस्त हो जा रहा है। रायपुर से जगदलपुर तक एक मात्र सड़क होने से चक्का जाम की स्थिति में सैकड़ों वाहनें जाम में फस जाते है जिससे आम लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। चक्का जाम के कारण स्कूल वाहन, एम्बुलेंष एवं अन्य अत्यावष्यक सेवाएं प्रभावित होती है जिसके कारण स्कूली बच्चे, बीमार जनप्रनिधि, व्हीआईपी, सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्ति, महिलाएं एवं बच्चों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ता है जिसकी षिकायत बार-बार हो रही है। उपरोक्त षिकायतों को मददे नजर पुलिस प्रषासन ने तय किया कि चक्का जाम की स्थिति में दोषियों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी वैधानिक कार्यवाही किया जावेगा। किसी भी स्थिति में दोषियों को बक्षा नही जायेगा।
विगत दिनों थाना केषकाल क्षेत्रान्तर्गत ग्राम बेड़मा में शमषान घाट की जमीन पर से कब्जा हटाने के विवाद को लेकर ग्रामीणों द्वारा चक्का जाम किया गया था। जिनके विरूद्ध थाना केषकाल में अपराध क्रमांक 152/16 धारा 147, 341 ताहि0 के अन्तर्गत अपराध पंजीबद्ध कर 15 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। इसी प्रकार फरसगांव में मृतक दयाराम साहू के शव को नेषलन हाईवे पर रखकर चक्का जाम करने वाले ग्रामीणों के विरूद्ध थाना फरसगांव में अपराध क्रमांक 106/16 धारा 147, 341 ताहि0 पंजीबद्ध किया गया है। 
समस्याओं के समाधान हेतु प्रषासन पर दबाव बनाने हेतु चक्का जाम करना कोई विकल्प नही है यह पूरी तरह गैर कानूनी है, चक्का जाम करने वालों को बक्षा नही जायेगा उनके विरूद्ध अपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध कराया जायेगा। भविष्य में बार-बार चक्का जाम की स्थिति बनने एवं एक ही व्यक्ति द्वारा बार-बार चक्का जाम में शामिल होने अपराध की पुनारावृत्ति होने पर अपराधिक प्रकरण के अतिरिक्त अन्य प्रतिबंधात्मक कानूनों के अन्तर्गत कार्यवाही की जावेगी।

Post Image: